Skip to main content

Posts

Showing posts from November 9, 2019

खून सफेद मुंशी प्रेमचंद की कहानी

हिंदी कहानी   मुंशी प्रेमचंद     खून सफेद . . मुंशी प्रेम चंद चैत का महीना था, लेकिन वे खलियान, जहाँ अनाज की ढेरियाँ लगी रहती थीं, पशुओं के शरणास्थल बने हुए थे; जहाँ घरों से फाग और बसन्त का अलाप सुनाई पड़ता, वहाँ आज भाग्य का रोना था। सारा चौमासा बीत गया, पानी की एक बूँद न गिरी। जेठ में एक बार मूसलाधार वृष्टि हुई थी, किसान फूले न समाए। खरीफ की फसल बो दी, लेकिन इन्द्रदेव ने अपना सर्वस्व शायद एक ही बार लुटा दिया था। पौधे उगे, बढ़े और फिर सूख गए। गोचर भूमि में घास न जमी। बादल आते, घटाएं उमड़तीं, ऐसा मालूम होता कि जल-थल एक हो जाएगा, परन्तु वे आशा की नहीं, दुःख की घटाएँ थीं। किसानों ने बहुतेरे जप-तप किए, ईंट और पत्थर देवी-देवताओं के नाम से पुजाएं, बलिदान किए, पानी की अभिलाषा में रक्त के पनाले बह गए, लेकिन इन्द्रदेव किसी तरह न पसीजे। न खेतों में पौधे थे, न गोचरों में घास, न तालाबों में पानी। बड़ी मुसीबत का सामना था। जिधर देखिए, धूल उड़ रही थी। दरिद्रता और क्षुधा-पीड़ा के दारुण दृश्य दिखाई देते थे। लोगों ने पहले तो गहने और बरतन गिरवी रखे और अन्त

गुप्त धन मुंशी प्रेम चंद की कहानी

  गुप्त धन मुंशी प्रेम चंद बाबू हरिदास का ईंटों का पजावा शहर से मिला हुआ था। आसपास के देहातों से सैकड़ों स्त्री-पुरुष, लड़के नित्य आते और पजावे से ईंट सिर पर उठा कर ऊपर कतारों से सजाते। एक आदमी पजावे के पास एक टोकरी में कौड़ियाँ लिए बैठा रहता था। मजदूरों को ईंटों की संख्या के हिसाब से कौड़ियाँ बाँटता। ईंटें जितनी ही ज्यादा होतीं उतनी ही ज्यादा कौड़ियाँ मिलतीं। इस लोभ में बहुत से मजदूर बूते के बाहर काम करते। वृद्धों और बालकों को ईंटों के बोझ से अकड़े हुए देखना बहुत करुणाजनक दृश्य था। कभी-कभी बाबू हरिदास स्वंय आ कर कौड़ीवाले के पास बैठ जाते और ईंटें लादने को प्रोत्साहित करते। यह दृश्य तब और भी दारुण हो जाता था जब ईंटों की कोई असाधारण आवश्यकता आ पड़ती। उसमें मजूरी दूनी कर दी जाती और मजूर लोग अपनी सामर्थ्य से दूनी ईंटें ले कर चलते। एक-एक पग उठाना कठिन हो जाता। उन्हें सिर से पैर तक पसीने में डूबे पजावे की राख चढ़ाये ईंटों का एक पहाड़ सिर पर रखे, बोझ से दबे देख कर ऐसा जान पड़ता था मानो लोभ का भूत उन्हें जमीन पर पटक कर उनके सिर पर सवार हो गया है। सबसे करुण दशा एक छोटे लड़के की थी जो स

फिल्म 'होटल मुम्बई' देश में 29 नवंबर को रिलीज होगी.

मुंबई:  मुंबई हमले पर बनी हॉलीवुड फिल्म 'होटल मुम्बई' देश में 29 नवंबर को रिलीज होगी. इस फिल्म में दिग्गज एक्टर अनुपम खेर एक शेफ़ हेमंत ओबेरॉय के किरदार में नज़र आयेंगे. बता दें कि हमले के बाद हेमंत ओबेरॉय ने अपनी बहादुरी, हौसले और सूझबूस से ताज महल होटल में फंसे सैकड़ों मेहमानों और स्टाफ की जान बचायी थी. फिल्म में हेमंत ओबेरॉय के किरदार के बारे में अनुपम खेर‌ ने एबीपी न्यूज़ के साथ विस्तार से बात की. उन्होंने बताया कि फिल्म में यह दिखाया गया है कि हमले के बाद हेमंत ने कैसे सूझबूझ का परिचय दिया. उन्होंने कहा हेमंत ओबेरॉय के पास होटल से भागने के कई मौके थे लेकिन वह अपने गेस्ट और स्टाफ को बचाने के लिए होटल में रुका हुआ था. अनुपम‌ खेर ने हेमंत ओबेरॉय के हिम्मत और जांबाजी की खूब तारीफ की. बता दें कि इस फिल्म में 'स्लमडॉग ‌मिलेनियर' के एक्टर देव पटेल‌, अनुपम खेर, आर्मी हैमर, नाजनीन बोनादी अहम रोल में नजर आएंगे. फिल्म का निर्देशन एंथोनी मारस ने किया है. फिल्म में 26/11 के आतंकी हमले की दिल दहला देने वाली कहानी दिखाई जाएगी.

कांग्रेस देगी बहार से समर्थन, शिवसेना-NCP मिलकर बनाएगी सरकार,

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) अध्यक्ष शरद पवार और कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के बीच सोमवार को मुलाकात हुई जिसके बाद महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने को लेकर अटकलें तेज हो गयीं हैं. मुलाकात के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में नयी तस्वीर सामने आने की बात पॉलिटिकल पंडित कर रहे हैं. इस मुलाकात को लेकर अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक खबर छापी है. अखबार को एनसीपी के एक नेता ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि पार्टी शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार का हिस्सा बन सकती है. इसके लिए एनसीपी स्पीकर पद चाहती है. एनसीपी की इच्छा है कि कांग्रेस इस गठबंधन को बाहर से समर्थन दे ताकि सरकार बनाने में दिक्कत न हो. हालांकि नेता ने आगे यह भी कहा है कि अभी कुछ साफ नहीं कहा जा सकता है. यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि शिवसेना और भाजपा का गठबंधन आगे बनता है या फिर दोनों अलग राह अपनाते हैं. खबरों की मानें तो एनसीपी ने 1995 के सेना-भाजपा जैसा फॉर्म्युला सुझाया है जिसमें सेना का नेता मुख्‍यमंत्री था जबकि भाजपा के नेता को उपमुख्यमंत्री पद मिला था. यदि एनसीपी के सहयोग से सरकार बनी तो सेना का नेता सीएम हो सकत

अस्थाई जेलें असमाजिक तत्वों के लिए बनाई गई है

गौरतलब है कि अयोध्‍या बेहद संवेदनशील मामला है। ऐसे में उत्‍तर प्रदेश सरकार काफी सतर्कता बरत रही है। राज्‍य के असमाजिक तत्वों को रोकने के लिए अस्थाई जेलें बनाने का सिलसिला शुरू कर दिया गया है। प्रशासन और पुलिस ने इसके लिए अब तक 12 स्थान चिह्नित किए हैं। प्रशासन की मानें तो इनकी संख्‍या बढ़ाई भी जा सकती है। अस्थाई जेलों को सुप्रीम फैसले के सिक्योरिटी प्लान में शामिल किया गया है।

अयोध्या फैसले के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को किया अलर्ट

सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के 17 नवंबर को सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या मामले के संभावित फैसले के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को सतर्क रहने की हिदायत दी है. गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को एक सामान्य सलाह दी गई है. अधिकारी ने बताया कि राज्यों को सभी संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त सुरक्षाकर्मी तैनात रखने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि देश में कहीं भी कोई अप्रिय घटना न हो. अधिकारी ने कहा कि मंत्रालय ने कानून व्यवस्था बनाए रखने में राज्य सरकार की सहायता के लिए उत्तर प्रदेश में अर्धसैनिक बलों की 40 कंपनियों (प्रत्येक में लगभग 100 कर्मी) को भी उतारा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अपने सभी मंत्रियों को अयोध्या फैसले के संबंध में अनावश्यक बयान देने से बचने के लिए भी कहा था. गृह मंत्रालय ने बुधवार को योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार को अयोध्या में सभी सुरक्षा तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए आगाह किया था. अयोध्या को सुरक्षा तैयारियों के

झारखंड में भी हाई अलर्ट जारी

झारखंड में भी हाई अलर्ट जारी अयोध्या मामले में आने वाले सुप्रीम कोर्ट के संभावित फैसले को लेकर पूरे देश के साथ-साथ झारखंड में भी सर्तकता बरती जा रही है। यहां कई इलाकों के साथ-साथ पूर्वी सिंहभूम जिले में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। सुरक्षा के हर बिंदु पर विचार कर एसपी अनूप बिरथरे ने मातहतों को आवश्यक निर्देश दिये हैं। शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षाबलों की तैनाती के इंतजाम किए गए हैं। बताया गया है कि किसी भी चूक की गुंजाइश नहीं है। शहर में क्यूआरटी का मार्च होगा। लोगों को अलर्ट रहने और किसी तरह के अफवाह से बचने को कहा गया है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के कारण पूरे राज्य में आदर्श आचार संहिता लगी है। दागियों के खिलाफ 107 की कार्रवाई की जा रही है। जो भी पुराने वारंटी हैं उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है। संगीन अपराधियों को जिला प्रशासन की ओर से जिला बदर किया गया है।

अयोध्या फैसला: गृह मंत्रालय ने जारी किया हाई अलर्ट,

नई दिल्‍ली:  आने वाले अयोध्या केस के संभावित फैसले की संवेदनशीलता को देखते हुए गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सामान्‍य एडवाइजरी जारी कर सतर्क रहने के लिए कहा है। यह खबर गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से मिल रही है। बता दें कि उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ अयोध्‍या मामले के संभावित फैसले को लेकर काफी सर्तक हैं। यहां अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का दिन नजदीक आने के कारण पुलिस और प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी हैं। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए जिले को तीन सेक्टर में बांटा जाएगा। सामान्य, संवेदनशील और अतिसंवेदनशील। इनके लिए क्षेत्र चिह्नित किए जा रहे हैं। सभी सेक्टर में पुलिस के साथ ही मजिस्ट्रेट भी तैनात रहेंगे। अयोध्या शहर की निगरानी इस समय ड्रोन से की जा रही है।

सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हुए क्रिया और प्रतिक्रिया न जाहिर करे साथ ही संयम और धैर्य बनाये रखे ।

जो फैसला सुनाया जाएगा उसे माननीय सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हुए क्रिया और प्रतिक्रिया न जाहिर करे साथ ही संयम और धैर्य बनाये रखे । प्रेम और सौहार्द का परिचय देने की सबसे कठिन परीक्षा है। किसी भी अफवाह और भ्रामक जानकारी से बचें, सोशल मीडिया का उपयोग सजगता से करे और विवादित ,धार्मिक,साम्प्रदायिक, राजनैतिक या उन्माद फैलाने वाले संदेशो से खुद को दूर रखें । ऐसे संदेश आगे न ब ढ़ाए साथ ही दूसरों को भी ऐसी ही समझाइश दे। ये देश आपका और हमारा सभी का है देश की एकता और अखंडता को बनाये रखना और मानवता धर्म का पालन करना हमारा सबसे बड़ा कर्तव्य और दायित्व दोनों है।

आखिर सुलझ गया रहस्य, इस वजह से बरमूडा ट्राएंगल खो जाते हैं समुद्री जहाज और प्लेन!

बरमूडा ट्राएंगल का रहस्य सुलझ चुका है। यह पिछले कई सालों से लोगों के लिए मिस्ट्री बना हुआ था। बता दें कि यहां से गुजरने वाले ना जाने कितने ही समुद्री जहाज और प्लेन खो चुके हैं।     इसका कारण कोई नहीं जान पाया। लेकिन अब साइंटिस्ट्स ने काफी रिसर्च के बाद इस बात का दावा किया है कि उन्हें इन सबके पीछे का कारण पता चल चुका है।     साइंटिस्ट्स ने बरमूडा ट्राएंगल के आसपास के मौसम की काफी बारीकी से स्टडी में उन्हें ऐसी कई बातें पता चली, जिनके आधार पर वो इसकी मिस्ट्री सुलझाने का दावा कर रहे हैं।     अब तक कोई भी इस जगह से जिंदा लौट कर नहीं आ पाया। साइंटिस्ट्स की रिसर्च के मुताबिक, इस ट्राएंगल के ऊपर खतरनाक हवाएं चलती हैं। इन हवाओं की गति 170 मील प्रति घंटे रहती है। जब कोई जहाज इस हवा की चपेट में आता है, तो अपना संतुलन खो बैठता है। जिसके कारण उनका एक्सीडेंट हो जाता है। ये हवाएं इसके ऊपर बनने वाले बादलों के कारण चलती हैं। इस ट्राएंगल के ऊपर 'killer clouds', यानी कि जानलेवा बादल छाए रहते हैं। इन बादलों को जानलेवा इस लिए कहा जाता है क्योंकि ये काफी घने होते हैं। इनके अंदर कई तूफान

6 साल बाद साल 4 बच्चों को जन्म दिया महिला ने

लखनऊ,  कहते हैं 'देने वाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़कर देता ', कुछ ऐसी ही मिसाल गोंडा की एक महिला पर फिट बैठती है। शादी के छह साल बाद भी महिला को बच्चा नहीं हो रहा था। जिसकी वजह से वो काफी परेशान थी। वहीं जब वो प्रेग्नेंट हुई थी तो उसे उम्मीद नहीं थी कि उसे एक नहीं चार-चार बच्चे होंगे। यूट्रस में सूजन का चल रहा था इलाज गोंडा के कपूरपुर साईं तकिया निवासी रेहाना (25) की शादी साल 2013 में हुई थी। पति जियाउल हक मुंबई में प्राइवेट नौकरी करते हैं। बच्चे न होने पर गोंडा की एक स्त्री रोग विशेषज्ञ से उपचार शुरू कराया गया। जियाउल के मुताबिक, जांच में पता चला कि रेहाना के यूट्रस (बच्चेदानी) में सूजन थी। उपचार के बाद रेहाना ने गर्भधारण किया। बुधवार को रेहाना को प्रसव पीड़ा शुरू हुई। उन्हें राजधानी के पुरनिया स्थित एक निजी अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती कराया गया। स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. आशा मिश्र, एनेस्थेटिस्ट डॉ. पुरुनेंद्र, बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. वैभव जैन आदि की टीम ने ऑपरेशन से प्रसव कराया। चारों बच्चे बड़े ऑपरेशन से जन्मे।

नेपाल और कनाडा भारत के सच्चे मित्र

कनाडा दुनिया का 5वां ऐसा शक्तिशाली देश है जो भारत की हर मुश्किल परिस्थिति में भारत की मदद करता है कनाडा को दुनिया का एक विकसित और शक्तिशाली देश माना जाता है कनाडा में ज्यादातर प्रवासी लोग निवास करते हैं। आपको कनाडा में ज्यादा भारतीय लोग देखने को मिल जाएंगे। नेपाल को दुनिया का एक छोटा देश माना जाता है। भले ही नेपाल शक्तिशाली देश ना हो, लेकिन वह मनोबल बढ़ाने के लिए भारती हमेशा सहायता करता है। नेपाल और भारत का रिश्ता काफी ज्यादा मजबूत माना जाता है नेपाल दुनिया का एक छोटा और खूबसूरत देश है, जहां का लाखों लोग घूमने के लिए जाते हैं।

कांग्रेस के आरोप से महाराष्ट्र का सियासी माहौल गर्म

महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल शनिवार को समाप्त होने जा रहा है, लेकिन अभी तक इस राज्य में नई सरकार का गठन नहीं हो पाया है। प्रदेश के प्रमुख दलों के बीच सरकार गठन को लेकर अभी तक सहमति नहीं बनी है अब तो आने वाला समय ही बता पाएगा कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होगा या नई सरकार का गठन होगा। इसी बीच कांग्रेस ने महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस के नेता विजय वडेट्टीवार ने ये आरोप लगाते हुए बताया कि महाराष्ट्र में विधायकों को पार्टी बदलने के लिए 50-50 करोड़ रुपए तक की पेशकश की जा रही है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस विधायकों से इसके लिए फोन पर संपर्क करने का प्रयास भी किया जा रहा है। कांग्रेस के इस आरोप के बाद अब महाराष्ट्र में सियासी माहौल और भी गरमा गया है।

बच्चों की मदद से आरोपितों तक पहुंची पुलिस

चार दिन से लापता तीन वर्षीय मासूम का शव शुक्रवार को बरामद करने के लिए पुलिस को बच्चों से महत्वपूर्ण टिप्स मिले थे। उसी के आधार पर पुलिस ने मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या करने के आरोपितों की गिरफ्तारी की और शव को नारायणबाग के समीप झाड़ियों से बरामद किया। घर के बाहर खेल रही तीन वर्षीय बच्ची को लेकर पुलिस ने जब छानबीन शुरू की तो बच्चों ने बताया कि मोहल्ले का एक युवक उसे अपने साथ लेकर गया था। बच्चों से मिली जानकारी के बाद पुलिस ने युवक को पूछताछ के लिये गिरफ्तार कर लिया। युवक ने बच्ची के अपहरण कर दुष्कर्म कर हत्या की बात कबूल कर ली। मासूम का शव पशु नोंच गये झाड़ियों से बरामद मासूम का शव पूरा नहीं था, बल्कि उसके दो से तीन हिस्से थे। शरीर का कुछ हिस्सा गायब था। एसएसपी डॉ ओपी सिंह ने कहा कि शव जहां मिला है वहां जंगल है। बच्ची की 5 नवम्बर को हत्या कर दी गई। इसके बाद आरोपित शव छिपाकर भाग गये। उन्होंने कहा कि आवारा जानवर ने शव को नोंच लिया है। पत्थर से कूंचकर की हत्या क्षेत्राधिकारी शहर अभिषेक राहुल ने बताया कि आरोपितों ने मासूम की हत्या पत्थर से कूंचकर की थी। उन्होंने बताया

हम अपने अधिकार के लिए लड़ रहे थे. 5 एकड़ जमीन की खैरात की जरूरत नहीं है.,असदुद्दीन ओवैसी

एआईएमआईएम) प्रमुख सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अगर मस्जिद वहां पर रहती तो सुप्रीम कोर्ट क्या फैसला लेती. यह कानून के खिलाफ है. बाबरी मस्जिद नहीं गिरती तो फैसला क्या आता है. हमें हिंदुस्तान के संविधान पर भरोसा है. हम अपने अधिकार के लिए लड़ रहे थे. 5 एकड़ जमीन की खैरात की जरूरत नहीं है. मुस्लिम गरीब हैं, लेकिन मस्जिद बनाने के लिए हम पैसा इकट्ठा कर सकते हैं. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हमें 5 एकड़ के ऑफर को खारिज कर देना चाहिए. ओवैसी ने आरोप लगाया कि ये मुल्क अब हिंदूराष्ट्र के रास्ते पर जा रहा है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने अयोध्या से इसकी शुरुआत की है और एनआरसी, सिटिजन बिल से यह पूरा किया जाएगा.

सिक्किम के उच्च न्यायालय कर रहा है चतुर्थ श्रेणी पदों पर भर्ती

सिक्किम के उच्च न्यायालय ने तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के कई पदों पर भर्ती के लिए आवेदन पत्र आमंत्रित किए हैं। इनमें ड्राइवर, चपरासी, अर्दली, बावर्ची आदिपद शामिल हैं। पद का नाम : अर्दली व चपरासी सहित तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के कई पद। कुल पदों की संख्या : चार शैक्षणिक योग्यता : विभिन्न पदों के अनुसार किसी भी मान्यता प्राप्त शिक्षा संस्थान या शिक्षा बोर्ड से कक्षा पांच या आठवीं कक्षा उत्तीर्ण की हो। ड्राइवर पद के उम्मीदवार के पास भारी वाहन चलाने में तीन साल का न्यूनतम अनुभव के साथ भारी वाहन चलाने का वैध लाइसेंस भी होना चाहिए। आयु सीमा : 18 वर्ष से 40 वर्ष। ऊपरी आयु सीमा में आयु छूट सरकारी श्रेणी के अनुसार आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए स्वीकार्य होगी। आवेदन व चयन प्रक्रिया : योग्य उम्मीदवार आवश्यक दस्तावेजों के साथ अपना आवेदन गंगटोक स्थित सिक्किम के उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार को भेजें। ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि : 23 नवंबर 2019। स्रोत : highcourtofsikkim.nic.in

हाउसफुल 4" की धुंआधार कॉमेडी ने दर्शकों के दिलों को जीत लिया

"हाउसफुल 4" की धुंआधार कॉमेडी ने दर्शकों के दिलों को जीत लिया है, नजीतन फ़िल्म का जादू अभी भी बॉक्स ऑफिस पर बरकरार रहा है। इतना ही नहीं, फिल्म की सफलता के साथ टिकट के दाम कम कर दिए गए है जिसने इस जश्न को दुगना कर दिया है। निर्माताओं ने इस रोमांचक खबर को अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया है 

सफाईकर्मी, चौकीदार और माली की भर्तियों के लिए इंजीनियर, MBA डिग्री वालों ने किया आवेदन ,बिहार ग्रुप डी भर्ती 2019 :

 बिहार विधान परिषद् में निकली ग्रुप डी भर्तियों के लिए इंजीनियर और एमटेक डिग्री धारकों ने आवेदन किया है। जी हां। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार बिहार विधान परिषद् मे निकली सफाइकर्मियों, चौकीदार, माली, ड्राइवर, ऑफिस अटेंडेंट जैसे क्लास-4 के पदों पर निकली 136 वैकेंसी के लिए करीब 5 लाख आवेदन आए हैं, इनमें से ढेरों उम्मीदवार ऐसे हैं जिनके पास बीटेक, एमबीए, पोस्ट ग्रेजुएशन, ग्रेजुएशन की डिग्रिया हैं। ये भर्तियां बिहार विधान परिषद ने सितंबर माह में निकाली थी। इन पदों के लिए 10वीं पास की योग्यता मांगी गई थी। अधिकारी के मुताबिक 18 से 37 वर्ष की आयु वर्ग के आवेदकों की तादाद ज्यादा है।  क्लास 3 के 7 कैटेगरी के पदों के लिए भारी संख्या में आवेदन आए हैं। 125 पदों के लिए 2.75 आवेदन आए हैं। क्लास-2 की नौकरी के लिए उम्मीदवारों को दो स्तरीय परीक्षा देनी होगी। पहले प्रीलिमिनेरी एग्जाम होगा और फिर मेन्स। सचिवालय प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि कुछ आवेदक ऐसे हैं जो बीपीएससी और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षाएं भी दे रहे हैं। जॉब श्योरिटी के अलावा उन्हें अच्छी सैलरी भी यहां खींच रही है। यहां शुरुआती सैलर

ऐतिहासिक फैसले के बाद बोले पीएम- दुनिया ने भारत के सदभाव को देखा

दशकों पुराने अयोध्या मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। इस फैसले के तहत विवादित भूमि रामलला के मंदिर के लिए हिंदू समुदाय को सौंप दी गई है जबकि मुस्लिम समुदाय को अलग से 5 एकड़ जमीन दी जाएगी जिसपर मस्जिद का निर्माण किया जा सकेगा। बता दें कि इस फैसले के बाद जहां एक तरफ कई राजनीतक प्रतिक्रियाएं तेज हुई हैं वहीं अब पीएम नरेंद्र मोदी भी इसको लेकर देश को संबोधित कर रहे हैं।

एटीके-जमशेदपुर मुकाबले में

एटीके और जमेशदुपर की टीमें शनिवार को हीरो इंडियन सुपर लीग के छठे सीजन में विवेकानंद युवा भारती क्रीड़ांगन स्टेडियम में आमने-सामने होंगी तो सभी की नजरें दोनों टीमों के स्टार खिलाड़ियों पर रहेंगी।   दोनों टीमें शीर्ष-4 में हैं। जमशेदपुर तीन मैचों में सात अंकों के साथ तीसरे नंबर है जबकि दो बार की विजेता एटीके छह अंकों के साथ जमशेदपुर से एक स्थान नीचे है। एटीके को इस सीजन के पहले मैच में केरला ब्लास्टर्स से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इसके बाद टीम ने दमदार वापसी की और आईसीएल में अपनी दूसरी सबसे अच्छी शुरुआत हासिल की। जमशेदपुर अभी तक लीग में अजेय है। यह उनका आईएसएल का तीसरा सीजन है और यह उनकी अभी तक की सबसे अच्छी शुरुआत है। एटीके ने अभी तक सिर्फ दो गोल खाए हैं जबकि उनका आक्रमण दमदार रहा है। एटीके के आक्रमण का नेतृत्व कर रहे डेविड विलियम्स ने अभी तक तीन गोल किए हैं। उन्हें रॉय कृष्णा से अच्छा साथ मिला है। एटीके ने अभी तक सात गोल किए हैं। टीम के कोच एंटोनियो हबास ने कहा, 'हमें अब हर टीम का सम्मान करना होगा। जमशेदपुर की टीम अच्छी है और उनका कोच भी अच्छा है। हमें उनके खिलाफ सावधानी से

आर्थिक वृद्धि का हवाला देकर भारत की रेटिंग घटाई

मूडीज इन्वेस्टर सर्विसेज ने भारत की रेटिंग पर अपना परिदृश्य बदलते हुए इसे स्थिर से नकारात्मक कर दिया है। एजेंसी ने कहा कि पहले के मुकाबले आर्थिक वृद्धि के बहुत कम रहने की आशंका रही है। एजेंसी ने भारत के लिए ba2 विदेशी मुद्रा एवं स्थानीय मुद्रा रेटिंग की पुष्टि करी है जो कि दूसरे सबसे कम स्कोर है। आपको बता दें कि रेटिंग एजेंसी में हाल ही में दिए अपने बयान में कहा है कि परिदृश्य को नकारात्मक करने का मूड इसका फैसला आर्थिक वृद्धि के मुकाबले काफी कम रहने के बढ़ते जोकिंग को दिखाता है। मुड़ इसके पूर्व अनुमान के मुकाबले बर्तनों की रेटिंग लंबे समय से चली आ रही आर्थिक एवं संस्थागत कमजोरी से निपटने में सरकार एवं नीति के प्रभाव को कम होते दिखाई देते हैं पुलिस अब जिसके कारण ही पहले ही उच्च स्तर पर कर्जा का बहुत धीरे-धीरे हो कि और बढ़ सकता है। आपको बता दें कि उन्होंने आगे कहा है कि जहां एक तरफ अर्थव्यवस्था समर्थन देने के लिए सरकारी उपायों से भारत की आर्थिक सुस्ती की गहराई और समय सीमा को काम करने की मदद मिलेगी वहीं दूसरी तरफ ग्रामीणों की धर्म समय तक व्यक्ति तनाव कमजोर रोजगार सृजन और थाली में गैर बै

जनपद से सटीं मध्य प्रदेश की सीमाएं सील

अयोध्या प्रकरण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर पुलिस प्रशासन पूरे दम-खम के साथ शहर की सुरक्षा व्यवस्था में उतर आया है। मुख्यमंत्री की वीडियो कांफ्रेसिंग के बाद डीआईजी सुभाष सिंह बघेल ने बताया कि जनपद के सटी मध्य प्रदेश की सीमाओं को सील किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस लाइन में दंगा रिहर्सल कर एसएसपी डॉ ओ पी सिंह ने अधीनस्थों को सम्भवना पड़ने पर त्वरित एक्शन प्लान की बारीकियों के सम्बंध में समझाया। अयोध्या प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर जनपद की पुलिस तैयार हो गई है। पिछले करीब एक माह से अपराधियों के खिलाफ पुलिस प्रशासन का अभियान व खुराफातियों पर कार्रवाई के साथ धार्मिक संगठनों के साथ बैठक कर अफसरों ने सुरक्षा का माहौल बनाना शुरू कर दिया था। शहरी क्षेत्र के ऐसे सभी इलाकों में पैदल गश्त कर पुलिसिंग का एहसास कराया। इधर क्षेत्रों में लगातार ताबड़तोड़ कार्रवाई के बाद पुलिस लाइन में दंगा रिहर्सल का आयोजन किया गया। एसएसपी डॉ ओ पी सिंह की मौजूदगी में अफसरो ने हर सम्भव स्थिती से निपटने के लिये तैयार कराया गया। सभी शस्त्रों आदि का परीक्षण किया गया। साथ ही दंगाईयों से निपट

सत्ते पे सत्ता रीमेक में अनुष्का शर्मा

आखिरी बार साल 2018 में बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा आनंद एल राय की फिल्म जीरो में शाहरुख खान और कैटरीना कैफ के साथ नजर आईं थी. अनुष्का शर्मा काफी लंबे समय से ब्रेक पर थी, और उन्होने कोई भी फिल्म साइन नहीं की थी. हाल ही में अनुष्का शर्मा अपने पति विराट कोहली के साथ छुट्टियां बिताती हुई नजर आईं थी, दोनो भूटान में वेकेशन एन्जॉय कर रहे थे. इस वेकेशन के दौरान की कुछ तस्वीरें अनुष्का शर्मा ने अपने इंस्टा स्टोरी पर उपलब्ध कराई है. अगर आपकों नही पता तो बता दे कि अनुष्का शर्मा फराह खान की फिल्म सत्ते पे सत्ता के रिमेक में लीड रोल प्ले करती हुई नजर आएंगी. वैसे तो फराह खान ने अभी तक इस बारे में किसी भी तरह का कोई खुलासा नहीं किया है, लेकिन किसी भी बात से इंकार भी नहीं किया है. फराह खान ने कहा था कि वो जल्द ही अपने नए प्रोजक्ट के बारे में घोषणा करेंगी. माना जा रहा है कि सत्ते पे तस्सा के रिमेक में अनुष्का शर्मा एक्टर ऋतिक रोशन के साथ रोमांस करती हुई नजर आने वाली हैं. ये पहला मौका होगा जब ऋतिक रोशन और अनुष्का शर्मा एक साथ स्क्रीन शेयर करते हुए नजर आएंगे. टॉइम्स ऑफ इंडिया के एक रिपोर्ट कि मानें

भारत 2023 में लगातार दूसरे पुरुष हॉकी विश्व कप की मेजबानी करेगा

अंतरराष्ट्रीय हाकी महासंघ (एफआईएच) ने शुक्रवार को यहां भारत को 2023 पुरूष हाकी विश्व कप की मेजबानी के लिये चुना जिससे देश लगातार दूसरी बार इस प्रतियोगिता का आयोजन करेगा। एफआईएच के अनुसार पुरूष हाकी विश्व कप भारत में 13 से 29 जनवरी तक खेला जायेगा। एफआईएच की साल की अंतिम बैठक शुक्रवार को हुई और इसके कार्यकारी बोर्ड ने यह फैसला किया। इसी बैठक में फैसला किया गया कि स्पेन और नीदरलैंड एक से 22 जुलाई तक आयोजित होने वाले 2022 महिला विश्व कप के सह मेजबान होंगे।    पुरूष और महिला दोनों विश्व कप के स्थलों की घोषणा बाद में मेजबान देशों द्वारा की जायेगी। भारत इस तरह चार पुरूष हाकी विश्व कप का आयोजन करने वाला पहला देश बन गया। वह इससे पहले 1982 में मुंबई में, 2010 में नयी दिल्ली और 2018 में भुवनेश्वर में इस टूर्नामेंट का आयोजन कर चुका है। नीदरलैंड ने तीन पुरूष हाकी विश्व कप की मेजबानी की है। भारत 2023 में स्वतंत्रता के 75 साल पूरे करेगा इसलिये हाकी इंडिया इस मौके पर देश में इस खेल के विकास को दर्शाने के लिये विश्व कप की मेजबानी करना चाहता था। पुरूष विश्व कप के अगले चरण की मेजबानी के लिये भारत सहित

कर्नाटक ने उत्तराखंड को हराकर रचा इतिहास, बनाया नया भारतीय रिकॉर्ड

कर्नाटक ने शुक्रवार को यहां सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के ग्रुप ए मैच में उत्तराखंड को नौ विकेट से हराकर लगातार 15 वां टी20 मैच जीता और भारतीय रिकार्ड बनाया। सलामी बल्लेबाज रोहन कदम और देवदत्त पडीक्क्ल ने नाबाद अर्धशतकों की मदद से कर्नाटक ने 133 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल की। कदम ने 55 गेंद में छह चौके और तीन छक्के से नाबाद 67 रन बनाये जबकि पडीक्क्ल ने नाबाद 53 रन बनाने के लिये 33 गेंदों का सामना किया। दोनों ने दूसरे विकेट के लिये नाबाद 108 रन बनाकर कर्नाटक को 15.4 ओवर में जीत दिलायी।   इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए उत्तराखंड की टीम छह विकेट पर 132 रन ही बना सकी, उसके लिये कप्तान तन्मय श्रीवास्तव 39 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे। इस जीत से कर्नाटक ने लगातार टी20 मैचों में जीत (15) का भारतीय रिकार्ड ही नहीं बनाया बल्कि वह विश्व स्तर की सूची में न्यूजीलैंड की ओटागो के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गयी।  सियालकोट स्टालियंस ने 2006 से 2010 के बीच पाकिस्तान के राष्ट्रीय टी20 कप में लगातार 25 मैचों में जीत हासिल की। ग्रुप के अन्य मैचों में गोवा ने बड़ौदा को चार विकेट से जबकि आं

आयकर छापे में एक कारोबारी के खिलाफ छापेमारी कर 9.55 करोड़ रुपये जब्त किये हैं.

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने करचोरी के एक मामले में पुणे क्षेत्र में एक कारोबारी के खिलाफ छापेमारी कर 9.55 करोड़ रुपये जब्त किये हैं. आयकर छापे में यह अब तक की सबसे बड़ी नकदी की बरामदगी है. सीबीडीटी ने कहा कि यह कार्रवाई 4 नवंबर को की गयी. हालांकि, एजेंसी ने कारोबारी का नाम नहीं बताया. मगर बताया जा रहा है कि, कारोबारी निर्माण, ठेके तथा रियल एस्टेट से जुड़ा है. सीबीडीटी ने एक बयान में कहा, ''खुफिया सूचनाएं मिली कि कारोबारी के पास उसके निवास स्थान पर भारी मात्रा में नकदी उपलब्ध है और जिसे जल्दी ही ठिकाने लगाया जा सकता है. इसके आधार पर तत्काल कार्रवाई करते हुए नकदी की उपलब्धता को लेकर जानकारियां जुटायी गयीं. इसके बाद कारोबारी के आवास और उसके कारोबारी परिसर की तलाशी के लिये एक वारंट जारी किया गया.” सीबीडीटी ने कहा कि कारोबारी निर्माण, ठेके तथा रियल एस्टेट से जुड़े कारोबार में शामिल है. हालांकि उसका नाम बताने से इनकार किया गया है. बोर्ड ने कहा कि तलाशी अभियान के दौरान 9.55 करोड़ रुपये की बिना हिसाब किताब की नकदी को जब्त किया गया. आयकर विभाग द्वारा पुणे में यह अब तक की

सुप्रीम कोर्ट का फैसला

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की संविधान पीठ शनिवार को सुबह 10:30 बजे फैसला पढ़ना शुरू किया। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि 5 जजों की संविधान पीठ सर्वसम्मति से फैसला सुना रही है। 45 मिनट तक पढ़े गए फैसले में सीजेआई ने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाएं और इसकी योजना 3 महीने में तैयार करें। पीठ ने मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के वैकल्पिक जमीन मुहैया कराने के निर्देश भी दिए। सीजेआई गोगोई ने कहा कि हिंदू-मुस्लिम विवादित स्थान को जन्मस्थान मानते हैं, लेकिन आस्था से मालिकाना हक तय नहीं किया जा सकता। पीठ ने कहा कि ढहाया गया ढांचा ही भगवान राम का जन्मस्थान है, हिंदुओं की यह आस्था निर्विवादित है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले की प्रमुख बातें चीफ जस्टिस ने कहा- हम सर्वसम्मति से फैसला सुना रहे हैं। इस अदालत को धर्म और श्रद्धालुओं की आस्था को स्वीकार करना चाहिए। अदालत को संतुलन बनाए रखना चाहिए। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा- मीर बाकी ने बाबरी मस्जिद बनवाई। धर्मशास्त्र में प्रवेश करना अदालत के लिए उचित नहीं होगा। विवादित जमीन रेवेन्यू रिकॉर्ड में सरकारी जमीन के तौर पर चिह्नित थी। र

सहवाग बाेले,- रोहित के 1 ओवर में 3-4 छक्के लगाने जैसी निरंतरता विराट में भी नहीं है

  रोहित शर्मा ने बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए दूसरे टी-20 मैच में शानदार 85 रनों की पारी खेल भारत को जीत दिलाई और तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी पर भी ला दिया। पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग इस पारी के बाद से रोहित की स्कोरिंग रेट के मुरीद हो गए हैं। उन्होंने यहां तक कह दिया है कि जब तेजी से रन करने की बात आती है तो टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली भी इस तरह की निरंतरता नहीं दिखा सकते, जिस तरह की रोहित दिखा रहे हैं। क्रिकबज ने सहवाग के हवाले से लिखा है, “एक ओवर में तीन-चार छक्के मारना और 45 गेंदों पर 80-90 रन बनाना एक कला है जो मैंने विराट में भी उतनी निरंतरता से नहीं देखी जितनी रोहित में है।”   सहवाग ने कहा, “सचिन हमेशा कहा करते थे कि जो मैं मैदान पर कर सकता हूं वो आप क्यों नहीं कर सकते? लेकिन उन्होंने इस बात को कभी नहीं समझा कि भगवान सिर्फ एक ही होता है और जो भगवान करता है वो कोई और नहीं कर सकता।”भारत और बांग्लादेश के बीच गुरुवार रात को खेले गया मैच रोहित के करियर का 100वां इंटरनेशनल मैच था। उन्होंने इस मैच में 43 गेंदों पर 85 रनों की पारी खेली। वह मैन ऑफ द मैच भी चुने

रजनीकांत ने कहा कि कुछ लोग मुझे भगवा रंग में रंगना चाहते हैं.

रजनीकांत ने शुक्रवार को कहा कि कुछ लोग मुझे भगवा रंग में रंगना चाहते हैं. तमिल कवि तिरुवल्लुवर के भी भगवाकरण की कोशिश की गई. लेकिन सच्चाई यह है कि न तो तिरुवल्लुवर और न ही मैं उनके जाल में फसूंगा. अयोध्या मामले पर उन्होंने लोगों से कोर्ट के फैसले का सम्मान करने और शांति बनाए रखने की अपील की. बीते दिनों रजनीकांत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में बयान दिया था. इसके बाद से भाजपा खेमे से जोड़कर देखा जाने लगा. फिल्म अभिनेता कमल हासन और रजनीकांत ने चेन्नई में शुक्रवार को राज कमल फिल्म्स इंटरनेशनल के नए कार्यालय में दिवंगत फिल्म निर्देशक के. बालाचंदर की प्रतिमा का अनावरण किया. इस दौरान रजनीकांत ने कहा कि तिरुवल्लुवर को भगवा चोला पहनाना भाजपा का एजेंडा है. कुछ लोग और मीडिया यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि मैं भाजपा का आदमी हूं। यह सच नहीं है. साथ देने पर ई भी राजनीतिक दल खुश होगा, लेकिन फैसला लेना मेरे ऊपर है. उधर, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव के मुताबिक, हमने यह कभी नहीं कहा कि रजनीकांत पार्टी में शामिल हो रहे हैं या शामिल होना चाहते हैं. भाजपा को इन सब अटकलों में कोई दिल

युवक की मौत जहर खाने की वजह से

मध्य प्रदेश  के आर्थिक  शहर इंदौर  मैं एमजी रोड थाने के सामने जहर खाने वाले युवक की मौत हो गई. ३० वर्षीय युवक अहीरखेड़ी निवासी सोनू बेरोजगारी से परेशान था. जहर खाने के बाद पुलिस उसे एमवाय अस्पताल इलाज हेतु ले गई लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.

अपील

माननीय सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हुए क्रिया और प्रतिक्रिया न जाहिर करे साथ ही संयम और धैर्य बनाये रखे । प्रेम और सौहार्द का परिचय देने की सबसे कठिन परीक्षा है। किसी भी अफवाह और भ्रामक जानकारी से बचें, सोशल मीडिया का उपयोग सजगता से करे और विवादित ,धार्मिक,साम्प्रदायिक, राजनैतिक या उन्माद फैलाने वाले संदेशो से खुद को दूर रखें । ऐसे संदेश आगे न ब ढ़ाए साथ ही दूसरों को भी ऐसी ही समझाइश दे। ये देश आपका और हमारा सभी का है देश की एकता और अखंडता को बनाये रखना और मानवता धर्म का पालन करना हमारा सबसे बड़ा कर्तव्य और दायित्व दोनों है।                                                                            इरफ़ान अली                                              अवाम का ख़त

करतारपुर गलियारा खुलने के साथ इतिहास का साक्षी बना पंजाब

पाकिस्तान की सीमा से लगे पंजाब के गुरदासपुर जिला स्थित ऐतिहासिक शहर डेरा बाबा नानक शनिवार को इतिहास रचा, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करतारपुर गलियारे का उद्घाटन करा। इस गलियारे के माध्यम से पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने के लिए सिख तीर्थयात्रियों का पहला जत्था रवाना हुआ। यह सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के 12 नवंबर को होने वाले 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर होने जा रहा है। यह अवसर 72 वर्षों के बाद आया है जब श्रद्धालु भारत से पाकिस्तान जाकर आसानी से करतारपुर साहिब में मत्था टेक सकेंगे।  इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी सुल्तानपुर लोधी शहर के बेर साहिब गुरुद्वारे में मत्था टेकेंगे।  मनमोहन सिंह के अलावा प्रतिनिधिमंडल में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, आर. पी. एन. सिंह, रणदीप सुरजेवाला, दीपेंद्र हुड्डा और जितिन प्रसाद शामिल होंगे। इसके अलावा पंजाब राज्य के सभी विधायक और सांसद भी प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे तीर्थयात्रियों के स्वागत के लिए इस शहर में यूरोपीय शैली के कुल 544 टेंट और 100 स्विस कॉटेज तैयार की गई हैं। इसके अल

दिल से जो बात निकलती है असर रखती है , शायर अल्लामा इक़बाल

दिल से जो बात निकलती है असर रखती है अपने मन में डूब कर पा जा सुराग़-ए-ज़ि़ंदगी तू अगर मेरा नहीं बनता न बन अपना तो बन दिल से जो बात निकलती है असर रखती है पर नहीं ताक़त-ए-परवाज़ मगर रखती है तू मेरा शौक़ देख मिरा इंतिज़ार देख माना कि तेरी दीद के क़ाबिल नहीं हूँ मैं तू मेरा शौक़ देख मिरा इंतिज़ार देख असर करे न करे सुन तो ले मिरी फ़रियाद नहीं है दाद का तालिब ये बंदा-ए-आज़ाद   असल मायने महबूब से इश्क के इकरार और तकरार से है... यूं तो शेरो-शायरी के असल मायने महबूब से इश्क के इकरार और तकरार से है, लेकिन इकबाल इन सभी से बेहद आगे हैं। वो अपने शेरों में सिर्फ माशूका की खूबसूरती, उसकी जुल्फें, उसके यौवन की बात नहीं करते बल्कि उनके शेरों में मजलूमों का दर्द भी नजर आता। मेरी सादगी देख क्या चाहता हूँ नशा पिला के गिराना तो सब को आता है मज़ा तो तब है कि गिरतों को थाम ले साक़ी तेरे इश्क़ की इंतिहा चाहता हूँ मेरी सादगी देख क्या चाहता हूँ लज़्ज़त सरोद की हो चिड़ियों के चहचहों में दिल की बस्ती अजीब बस्ती है, लूटने वाले को तरसती है दुनिया के ग़म का दिल से काँटा निकल गया हो लज़्ज़त सरोद की हो चिड़िय